प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY): PM Mudra Yojana आवेदन प्रक्रिया

Pradhanmantri Mudra Yojana – “प्रधानमंत्री मुद्रा योजना” (PMMY) एक सरकारी योजना है जो भारत सरकार द्वारा छोटे व्यापारी और लघु उद्यमियों को सस्ते ऋण प्रदान करने के उद्देश्य से चलाई गई है। इसका उद्देश्य वित्तीय सहायता के माध्यम से अधिक से अधिक लोगों को आत्मनिर्भर बनाना है और उन्हें उद्यमिता की दिशा में प्रेरित करना है। इस योजना के तहत, विभिन्न बैंकों और वित्तीय संस्थाओं के माध्यम से ऋण प्रदान किया जाता है, जिससे व्यापारी और उद्यमियों को उनकी आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा मिलता है। यदि आप भी Prdhanmantri Mudra Yojana के अंतर्गत ऋण प्राप्त करना चाहते है। तो आप इस लेख को अंत तक पूरा पढ़िए । इस लेख में प्रधानमंत्री मुद्रा योजना की सभी जानकारी विस्तार से बताई गई है ।

Pradhanmantri Mudra Yojana

Pradhanmantri Mudra Yojana

“प्रधानमंत्री मुद्रा योजना” (पीएमएमवाई) भारत सरकार द्वारा 8 अप्रैल, 2015 को ऋण प्रदान करने के लिए आरंभ की गई एक योजना है । जो छोटे व्यापारी, लघु उद्यमी और स्वरोजगार करने वालों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए बनाई गई है। इस योजना के तहत विनिर्माण, व्यापार या सेवा क्षेत्र में गैर कृषि क्षेत्र में लगे आय पैदा करने वाले शूक्ष्म उद्यमियों को 10 लाख रूपये तक ऋण प्रदान किया जाता है । PMMY के अंतर्गत, विभिन्न बैंकों, निगमित बैंकों और वित्तीय संस्थाओं के माध्यम से तीन प्रकार के ऋण प्रदान किए जाते हैं। इस योजना का लाभ उन सभी व्यक्तियों को मिलता है जो विभिन्न सेक्टरों में अपने व्यापार या स्वरोजगार को बढ़ावा देना चाहते हैं। जिसमे कृषि से जुडी गतिविधियाँ जैसे – पोल्ट्री , डेरी, मधुमक्खी पालन आदि शामिल है ।

Pradhanmantri Mudra Yojana योजना सदस्य ऋण संस्थानों द्वारा गैर – कॉर्पोरेट को दी जाने वाली वित्तीय सहायत प्रदान करती है। शूक्ष्म और लघु संस्थानों में छोटी विनिर्माण इकाइयों , सेवा क्षेत्र इकाइयों , दुकानदारों , फल, सब्जी विक्रेताओं , ट्रक , ओपरेटरो, खाद्य सेवा इकाइयों , मरम्मत की दुकानों , मशीन  ओपरेटरो, , छोटे उद्योगों , कारीगरों , खाद्य पदार्थो के रूप में चलने वाली लाखो स्वामित्व / साझेदारी फार्म शामिल है ।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना का संक्षिप्त विवरण

योजना का नामPrdhanmantri Mudra Yojana
शुरू की गईभारत सरकार द्वारा
उद्देश्यछोटे व्यापारी, लघु उद्यमी, और स्वरोजगार करने वालों को ऋण प्रदान करना
लाभार्थीदेश के नागरिक
साल2024
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइट https://www.mudra.org.in/

मुद्रा योजना के तीन प्रमुख श्रेणियां हैं:

PMMY के अंतर्गत, विभिन्न बैंकों, निगमित बैंकों और वित्तीय संस्थाओं के माध्यम से तीन प्रकार के ऋण प्रदान किए जाते हैं:

  1. शिशु लोन (Shishu Loan): इसमें 50,000 रुपये तक का ऋण प्रदान किया जाता है। यह ऋण व्यक्तिगत उद्यमियों के लिए है जो अभी तक बहुत छोटे हैं और नए हैं।
  2. किशोर लोन (Kishor Loan): इसमें 50,000 रुपये से 5 लाख रुपये तक का ऋण प्रदान किया जाता है। इसका लाभ मध्यम आकार के व्यापारी और उद्यमियों को मिलता है।
  3. तरुण लोन (Tarun Loan): इसमें 5 लाख रुपये से 10 लाख रुपये तक का ऋण प्रदान किया जाता है। इसका लाभ बड़े उद्यमियों को मिलता है जो अपने व्यापार को बढ़ावा देना चाहते हैं।

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना

PMMY के अंतर्गत आने वाले बैंक

  • सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक
  • निजी क्षेत्र के बैंक
  • राज्य द्वारा संचालित सहकारी बैंक
  • क्षैत्रीय क्षेत्र के ग्रामीण बैंक
  • शूक्ष्म वित्त संसथान (MFI)
  • गैर बैंकिंग वित्त कम्पनी (NBFC)
  • लघु वित्त बैंक (SFB)
  • मुद्रा लिमिटेड द्वारा सदस्य वित्तीय संस्थानों के रूप में अनुमोदित अन्य वित्तीय मध्यस्थ

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना का उद्देश्य

भारत सरकार द्वारा शुरू की गई “प्रधानमंत्री मुद्रा योजना” का मुख्य उद्देश्य छोटे व्यापारी, लघु उद्यमी, और स्वरोजगारी क्षेत्र में काम कर रहे व्यक्तियों को वित्तीय सहायता प्रदान करना है। इस योजना के माध्यम से भारत सरकार ने इन वर्गों के उद्यमियों को आत्मनिर्भर बनाने और उनके व्यापार को मजबूती प्रदान करने का प्रयास किया है।PMMY के तहत छोटे व्यापारों, लघु उद्यमों और स्वरोजगार करने वालों को और व्यापारी उद्यमियों को रोजगार का अवसर प्रदान करना है, जिससे रोजगार की स्थिति में सुधार हो सके।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना की विशेषताएं

  • इस योजना के तहत ऋण के लिए ब्याज दर बाजार की तुलना में कम होती है, जो व्यापारी और उद्यमियों के लिए लाभकारी है।
  • सके लिए कोई सुरक्षा जमा करने की आवश्यकता नहीं है, जिससे योजना को अधिक सुलभ बनाता है।
  • यह योजना तीन श्रेणियों में विभाजित है – शिशु, किशोर, और तरुण, जिनमें अलग-अलग ऋण राशियाँ प्रदान की जाती हैं
  • शिशु और किशोर ऋणों के लिए समय सीमा 5 वर्ष और तरुण ऋण के लिए 7 वर्ष है। जिससे व्यक्ति अपना ऋण समय पर चुक्ता कर सकता है।
  • आवेदनकर्ता अपने स्थानीय बैंक या वित्तीय संस्था में जाकर आवेदन कर सकता है।

Pradhanmantri Mudra Yojana Benefits (लाभ )

  • इस योजना के माध्यम से छोटे व्यापारी, लघु उद्यमी, और स्वरोजगारी व्यक्तियों को वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है,
  • योजना के माध्यम से लोगों को बैंकों से सस्ते ब्याज दर पर ऋण प्राप्त होता है।
  • यह योजना बैंकों को छोटे व्यापारों और उद्यमियों के लिए ऋण प्रदान करने के लिए प्रेरित करती है,
  • प्रधानमंत्री मुद्रा योजना को शिशु , किशोर और तरुण तीन श्रेणियों में बांटा गया है ।
  • शिशु में 50,000 रुपये तक का ऋण प्रदान किया जाता है।
  • किशोर में 50,000 रुपये से 5 लाख रुपये तक का ऋण प्रदान किया जाता है।
  • तरुण में 5 लाख रुपये से 10 लाख रुपये तक का ऋण प्रदान किया जाता है।
  • शिशु और किशोर ऋणों के लिए समय सीमा 5 वर्ष है और तरुण ऋण के लिए 7 वर्ष है, जिससे व्यक्ति अपना ऋण समय पर चुक्ता कर सकता है।
  • PMMY के तहत ब्याज दर बाजार की तुलना में कम होती है, जो व्यापारी और उद्यमियों के लिए लाभकारी है।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के लिए पात्रता

  • इस योजना का लाभ उन्हीं व्यक्तियों को मिलता है जो भारतीय नागरिक हैं।
  • यह योजना व्यापार, लघु उद्यम, और स्वरोजगार के क्षेत्र में गतिविधि कर रहे व्यक्तियों के लिए है।
  • योजना तीन श्रेणियों में विभाजित है – शिशु, किशोर, और तरुण, जिनमें अलग-अलग ऋण राशियाँ प्रदान की जाती हैं।
  • आवेदक किसी भी बैंक या वित्तीय संसथान का डीफोल्टर नही होना चाहिए ।
  • आवेदक को कौशल/अनुभव/ज्ञान होना अनिवार्य है ।

आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • पहचान पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • बैंक खाता
  • मोबाइल नंबर

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत आवेदन प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री मुद्रा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा ।
  • आधिकारिक वेबसाइट पर होम पेज खुल जायेगा ।
  • होम पेज पर आपको उद्यामिमित्र पोर्टल को सेलेक्ट करना होगा ।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुलकर आ जायेगा ।
Pradhanmantri Mudra Yojana
  • इस पेज पर आपको “अभी आवेदन करें” पर क्लिक करना होगा ।
  • इस विकल्प पर क्लिक करने पर अगला पेज खुल जायेगा ।
Pradhanmantri Mudra Yojana
  • इसमें नया उद्यमी / मौजूदा उद्यमी / स्व-रोजगार पशेवर में से किसी एक का चयन करना होगा।
  • इसमें आवेदक का नाम , ईमेल , मोबाइल नंबर भरें और ओटीपी जनरेट करें ।
  • इसके बाद व्यक्तिगत विवरण और व्यावसायिक विवरण भरें ।
  • यदि परियोजना प्रताव आदि तेयार करने के लिए किसी परियोजना की आवश्यकता है तो हैण्ड – होल्डिंग एजेंसियों का चयन करें ।
  • अन्याथा ऋण आवेदन केंद्र पर क्लिक करें और आवेदन करें ।
  • आवश्यक ऋण की श्रेणी चुने – शिशु , किशोर , तरुण ।
  • इसके बाद सभी जानकारी दर्ज करके उद्योग के प्रकार का चयन करें ।
  • सभी विवरण पूर्ण करने के बाद अपने दस्तावेजो को संलग्न करें ।
  • इस प्रकार आप आसानी से आवेदन कर सकेंगे ।

Pradhanmantri Mudra Yojana FAQ,s

प्रशन: प्रधानमंत्री मुद्रा योजना क्या है?

उत्तर: प्रधानमंत्री मुद्रा योजना भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक योजना है जो छोटे व्यापारी, लघु उद्यमी, और स्वरोजगार करने वाले व्यक्तियों को वित्तीय सहायता प्रदान करने का उद्देश्य रखती है।

प्रशन: प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के कितने प्रकार हैं?

उत्तर: मुद्रा योजना तीन प्रमुख श्रेणियों में विभाजित है – शिशु, किशोर, और तरुण, जिनमें अलग-अलग ऋण राशियाँ प्रदान की जाती हैं।

प्रशन: प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अंतर्गत कितनी राशि ली जा सकती है?

उत्तर: योजना के तहत लिए जा सकने वाले ऋण की राशि तीन श्रेणियों के अनुसार भिन्न होती है – शिशु (50,000 रुपये तक), किशोर (50,000 रुपये से 5 लाख रुपये तक), और तरुण (5 लाख रुपये से 10 लाख रुपये तक)।

Leave a Comment