मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना 2024 : हिमाचल सरकार 6000 अनाथ बच्चों को लेगी गोद

Mukhyamantri Sukh Aashray Yojana: राज्य के नागरिको के जीवन स्तर में सुधार करने के लिए  हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा एक नई योजना की शुरुआत की जा रही हैं।  इस योजना का नाम मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना है. राज्य सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से  अनाथ बच्चो को सहायता प्रदान की जा रही हैं।  यदि आप हिमाचल प्रदेश के नागरिक हैं और योजना की सभी जानकारी को प्राप्त करना चाहते हैं तो आज हम आपको अपने आर्टिकल के माध्यम से Mukhyamantri Sukh Aashraya Yojana से जुडी जानकारी प्रदान करेंगे। जैसे – योजना का लाभ, उद्देश्य, विशेषताएं, पात्रता एवं दस्तावेज आवेदन प्रक्रिया आदि सभी जानकारी को प्राप्त करने के लिए आप हमारे इस आर्टिकल को अंत तक अवश्य पढ़ें।

Mukhyamantri Sukh Aashray Yojana

हिमाचल प्रदेश सशक्त महिला ऋण योजना

Mukhyamantri Sukh Aashray Yojana

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू जी द्वारा वित्तीय वर्ष 16 फरवरी 2023 को इस योजना को शुरू किया गया हैं।  राज्य सरकार द्वारा मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना के तहत  6000 बच्चो को चिल्ड्रन ऑफ स्टेट के रूप में गोद लिया जाएगा। साथ ही गोद लिए बच्चो की पढ़ाई लिखाई से लेकर पालनहार जैसी सभी सुविधाएं सरकार द्वारा वहन की जाएगी।  राज्य सरकार  की  ओर से बच्चो को आवास, शिक्षा और शादी सभी का लाभ दिया जाएगा। जिसमें अनाथ बच्चो के साथ साथ विशेष रूप से असक्षम बच्चों, निराश्रित महिलाओं और वरिष्ठ नागरिकों भी जोड़ा जाएगा। हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा Mukhyamantri Sukh Aashray Yojana के संचालन के लिया राज्य सरकार ने 101 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया हैं। इसके आलावा उन्हें हर महीने कुछ आर्थिक मदद भी दी जाएगी। ताकि वह अपना भविष्य उज्ज्वल बना सके।

हिमाचल प्रदेश मुख्यमंत्री संबल योजना

मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना की पूरी जानकारी

योजना का नाम  Mukhyamantari Sukh Aashray Yojana
कब शुरू हुई16 फरवरी 2023   
लाभार्थी  राज्य के अनाथ बच्चे, निराश्रित महिलाएं और वरिष्ठ नागरिक
घोषणा की गई  मुख्यमंत्री ठाकुर सुख विंदर सिंह सुक्खू जी द्वारा  
उद्देश्यराज्य के अनाथ बच्चों, निराश्रित महिलाओं और वरिष्ठ नागरिकों को आर्थिक सहायता प्रदान करना  
योजना  का बजट101 करोड़ रुपए 
राज्यहिमाचल प्रदेश  
साल         2024
आवेदन प्रक्रिया  अभी उपलब्ध नहीं  
अधिकारिक वेबसाइट  जल्द लॉन्च होगी  

हिमाचल प्रदेश सहारा योजना

Mukhyamantri Sukh Aashray Yojana का उद्देश्य

हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना को शुरू करने का उद्देश्य 6000 अनाथ हुए बच्चो को गोद लेकर सहायता प्रदान करना हैं।  क्योकि हम सभी जानते हैं की अनाथ बच्चो को अपना जीवन यापन करने के लिए काफी  समस्याओ  का सामना करना पड़ता हैं। इसलिए प्रदेश  सरकार द्वारा HP Sukh Aashraya Yojana के अंतर्गत उनका पालन पोषण शिक्षा का खर्च, आवास, विवाह आदि सहायत प्रदान करने में अहम भूमिका निभायी जा रही हैं।साथ ही सरकार द्वारा गोद लिए बच्चो को 27 वर्ष की उम्र तक उनके खाने-पीने से लेकर रहने और शिक्षा से संबंधित सभी प्रकार की सुविधाओं का लाभ दिया जाएगा।यह योजना बच्चों के जीवन स्तर में सुधार लाने में कारगर साबित होगी।

डॉ. यशवंत सिंह परमार विद्यार्थी ऋण योजना 

मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना में कितना पैसा मिलेगा

  • राज्य सरकार द्वारा 1 से 14 वर्ष तक के बच्चों को प्रतिमाह 1000 की धनराशि योजना के माध्यम से प्रदान की जाएगी।
  • 14 से 18 वर्ष वाले बच्चो को और एकल महिलाओं को हर महीने 2500 रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएंगी।
  • जबकि 18 साल से ज़्यादा उम्र के बच्चो को कोचिंग और स्कॉलशिप के रूप में हर साल 1 लाख रुपए की धनराशि दी जाएगी। ताकि वह उच्च शिक्षा प्राप्त कर सके।
  • जो बच्चे कोचिंग करेंगे उन्हें आवास के लिए 4-4 हजार रुपए की छात्रवृत्ति दी जाएगी।
  • साथ ही जिन बच्चो के पास रहने के लिए आवास नहीं है उन्हें 3 बिस्वा अमीन और 3 लाख रुपए प्रदान किए जाएंगे।
  • Mukhyamantri Sukh ashray Yojana के तहत राज्य सरकार की ओर से विवाह योग्य बच्चो के लिए उन्हें 2 लाख रुपए धनराशि प्रदान की जाएगी।
  • स्वरोजगार को प्रोत्साहन करने के लिए 2 लाख रुपए की एकमुश्त राशि दी जाएगी।
  • इसके अलावा बच्चो को प्रीतिवर्ष हर त्योहार मानाने के लिए 500 रुपए दिए जाएंगे। जिससे बच्चे अच्छे से त्यौहार मना सके।
  • यह योजना एक सराहनीय योजना हैं जिसका लाभ राज्य के अनाथ बच्चो को दिया जा रहा हैं।

हिमाचल गृहणी सुविधा योजना

HP Mukhyamantari Sukh Aashray Yojana  के लाभ एवं विशेषताएं

  • हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू जी द्वारा 16 फरवरी  को मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना की शुरुआत  हैं।
  • राज्य सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से  राज्य के अनाथ बच्चो को सहायता प्रदान किया जाएगा।
  • साथ ही राज्य सरकार द्वारा 6000 बच्चो को चिल्ड्रन ऑफ स्टेट के रूप में गोद लिया जाएगा।
  • अनाथ और विशेष रूप से असक्षम बच्चों, निराश्रित महिलाओं और वरिष्ठ नागरिकों भी जोड़ा जाएगा।
  • 27 वर्ष की आयु तक बच्चों को इस योजना से लाभ दिया जाएगा।
  • अनाथ आश्रम में रहने वाले बच्चों के लिए म्यूजिक रूम, बाथरूम, आधुनिक क्लासरूम, इनडोर और आउटडोर गेम्स के लिए मैदान आदि की व्यवस्था की जाएगी।
  • प्रदेश सरकार द्वारा 101 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया हैं।
  • अनाथ बच्चों को उत्तम शिक्षा प्रदान करने के लिए निशुल्क कोचिंग की सुविधा के साथ-साथ जरूरी अध्ययन सामग्री भी सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी।
  • मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना  के माध्यम से बच्चो को कोचिंग और स्कॉलशिप के रूप में हर साल 1 लाख रुपए की धनराशि दी जाएगी।
  • साथ ही अनाथ बच्चो को 200000 का अनुदान भी प्रदान किया जाएगा।
  • विशेष रूप से असक्षम बच्चे, निरीक्षक महिलाएं एवं वरिष्ठ नागरिक भी इस योजना के अंतर्गत शामिल किया गया हैं।
  • जिसका लाभ प्रदान कर अनाथ बच्चों का भविष्य उज्जवल बनाया जा सकेगा।
  • 18 वर्ष से अधिक आयु से 27 वर्ष की आयु तक आफ्टर केयर इंस्टिट्यूशन में रहने और खाने-पीने की सुविधा भी उपलब्ध करवाई जाएगी

खेलो इंडिया यूथ गेम्स

मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना के लिए पात्रता

  • प्रदेश सरकार द्वारा इस योजना का लाभ राज्य के मूल निवासी को दिया जाएगा।
  • इस योजना में लाभ केवल अनाथ बच्चों को मिलेगा,
  • साथ  ही निराश्रित महिलाएं और वरिष्ठ नागरिक भी इस योजना के लिए पात्र होगे।

Mukhyamantari Sukh Aashray Yojana के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • बच्चे के माता पिता का मृत्यु प्रमाण पत्र
  • निराश्रित महिलाओं का शपथ पत्र
  • उत्तीर्ण कक्षा की मार्कशीट
  • कोचिंग की सुविधा के लिए छात्रावास की रसीद
  • भूमिहीन होने का शपथ पत्र
  • बैंक खाता विवरण
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया

दोस्तों हम आपको बता दें की Mukhyamantari Sukh Aashray Yojana का लाभ प्राप्त करने के लिए अभी आपको थोड़ा इंतजार करना होगा। क्योंकि राज्य सरकार द्वारा अभी इस योजना की घोषणा हाल ही में की गई हैं।  इसके लिए आवेदन प्रक्रिया क्या है इसकी कोई जानकारी प्राप्त नहीं कराई गई हैं। जैसे ही सरकार की ओर से इस योजना के अंतर्गत आवेदन से संबंधित कोई भी जानकारी प्रदान की जाती है तो हम आपको तुरंत अपने आर्टिकल के माध्यम से सूचित कर देंगे। तब तक आप हमारे इस आर्टिकल के साथ जुड़े रहें।

FAQ About Mukhyamantri Sukh Aashray Yojana

Q : मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना किस राज्य में शुरू हुई?

Ans : हिमाचल प्रदेश में शुरू हुई।

Q : मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना कब शुरू हुई?

Ans : फरवरी, 2023 में शुरू हुई।

Q : मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना में किसे जोड़ा जाएगा?

Ans : अनाथ बच्चे, एवं विकलांग बच्चों को जोड़ा जाएगा।

Q : मुख्यमंत्री सुख आश्रय योजना के लिए सरकार कितना खर्च करेगी?

Ans : सरकार 101 करोड़ रूपये खर्च करेगी।

Leave a Comment