इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना 2024 : IMSUPY ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म

Indira Mahila Shakti Udyam Protsahan Yojana:- सरकार द्वारा महिला के उत्थान और विकास को प्रोत्साहित करने के लिए विभिन्न कल्याणकारी योजनाओ का संचालन किया जा रहा है । इसी क्रम में राजस्थान द्वारा महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना शुरू की गई है । इस योजना के माध्यम से महिलाओ को स्वंय का व्यवसाय स्थापित करने के लिए 50 लाख से 1 करोड़ रुपए तक के ऋण की सुविधा प्रदान की जाएगी । जिससे महिलाएं आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर और सशक्त बन सकेंगी और उनका जीवनस्तर बेहतर हो सकेगा । राज्य की जो महिलाएं इस योजना का लाभ उठाना चाहती है, तो वह इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकती है। इस लेख को पढ़कर आपको Indira Mahila Shakti Udyam Protsahan Yojana योजना के लाभ, पात्रता, दस्तावेज, और आवेदन प्रक्रिया के बारे में सभी आवश्यक जानकारी मिलेगी। क्रप्या इस लेख को अंत तक पढ़ें।

Indira Mahila Shakti Udyam Protsahan Yojana

देश की पहली महिला राज्यपाल श्रीमती सरोजिनी नायडू के जन्मदिन के शुभ अवसर पर 13 फरवरी 2023 को राज्य के पोदार कॉलेज कैंपस में महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम के दौरान इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना – IMSUPY को शुरू किया गया है।  इस योजना के अंतर्गत महिलाओ को स्वरोजगार स्थापित करने के लिए ऋण उपलब्ध करवाया जायेगा । जिससे महिलाओ को आर्थिक रूप से सशक्त एवं आत्मनिर्भर बनाया जा सकें । राज्य की महिलाओं को इस योजना के माध्यम से विनिर्माण, सेवा एवं व्यापार आधारित उद्योगों का निर्माण करने के लिए बैंकों द्वारा ऋण उपलब्ध करवाया जायेगा ।

इस योजना के अंतर्गत महिलाओ को नए उद्यमिता के लिए अपने व्यवसाय को स्थापित करने के साथ – साथ पहले से स्थापित उद्योगों के विस्तार, विविधीकरण, आधुनिकरण आदि के कार्य के लिए भी ऋण की सुविधा प्रदान की जाएगी। इस योजना के संचालन के लिए सरकार ने 1000 करोड़ रूपये का बजट निर्धारित किया गया है। । Indira Mahila Shakti Udyam Protsahan Yojana के अंतर्गत राज्य की व्यक्तिगत महिलाओ को शामिल कर इसके साथ ही संस्थागत महिला स्वयं सहायता समूह अथवा महिला स्वयं सहायता समूह (Self Help Groups – SHG), के क्लस्टरआदि को भी लाभ प्रदान किया जायेगा । ताकि उन्हें आजीविका हेतु रोजगार प्रदान कर आत्मनिर्भर बनाया जा सके। सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से बेरोजगारी को कम करने के लिए विभिन्न क्षेत्रों में रोजगार के अवसर मुहैया कराए जायेंगे ।

राजस्थान शुभ शक्ति योजना 

राजस्थान सरकार द्वारा इंदिरा महिला शक्ति एवं प्रोत्साहन योजना को शुरू किया गया है । इस योजना का मख्य उद्देश्य राज्य की महिलाओं को खुद का व्यवसाय या उद्यम स्थापित करने के लिए प्रोत्साहन देना है । इस योजना के तहत महिलाओ के स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार द्वारा ऋण की सुविधा प्रदान की जाएगी । इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना के तहत महिलाओं को 50 लाख रुपए से लेकर 1 करोड़ रुपए तक की ऋण राशि उपलब्ध कराई जाएगी। साथ ही महिलाओं को उपलब्ध कराए जाने वाले ऋण पर 25 से 30% तक अनुदान प्रदान किया जाएगा। जिससे महिलाएं आत्मनिर्भर एवं सशक्त बनेंगी । और महिलाएं आर्थिक रूप से मजबूत हो सकेगी।   

योजना का नामIndira Mahila Shakti Udyam Protsahan Yojana
किसने शुरू कीराजस्थान सरकार ने
उद्देश्यमहिलाओं को स्वंय का व्यवसाय स्थापित करने के लिए ऋण प्रदान करना
सहायता ऋण लाभऋण पर 25 से 30% तक अनुदान 
साल2024
लाभार्थीराज्य की महिलाएं
राज्यराजस्थान
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइटhttps://wcd।rajasthan।gov।in/
श्रेणीराज्य सरकारी

  • इस योजना के तहत व्यक्तिगत महिलाओं को 50 लाख रुपए की ऋण राशि उपलब्ध कराई जाएगी ।
  • महिलाओ को खुद का उद्यम स्थापित करने के लिए 1 करोड़ रूपये प्रदान किये जायेंगे ।
  • स्वयं सहायता समूह (Self Help Groups) को 1 करोड़ रुपए की ऋण राशि उपलब्ध कराई जाएगी ।
  • इस योजना के अंतर्गत व्यापार ऋण की अधिकतम ऋण सीमा 10 लाख रुपए निर्धारित की गई है।
  • ऋण अनुदान की अधिकतम सीमा 15 लाख रुपए निर्धारित की गई है ।

राजस्थान महिला निधि योजना

  • क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक
  • राजस्थान वित्त निगम
  • सिडबी
  • राष्ट्रीयकृत वाणिज्यिक बैंक
  • भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा प्राधिकृत निजी क्षेत्र के अनुसूचित वाणिज्य बैंक तथा अनुसूचित स्मॉल फाइनेंस बैंक 
  • राजस्थान सरकार द्वारा इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना की शुरुआत की गई है।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य की महिलाओं को खुद का व्यवसाय उद्योग, सेवा, व्यापार, डेयरी, कृषि आधारित उद्यम आदि स्थापित करने के लिए ऋण की सुविधा  प्रदान की जायेगी ।
  • राज्य की जो महिलाएं खुद का रोजगार शुरू करना चाहती है। वह सभी इस योजना का लाभ उठा सकती है
  • महिलाओ की आर्थिक स्थिति में सुधार करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी ।
  • इस योजना के तहत महिलाओ के स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार द्वारा ऋण की सुविधा प्रदान की जाएगी ।
  • IMSUPY के तहत महिलाओं को 50 लाख रुपए से लेकर 1 करोड़ रुपए तक की ऋण राशि उपलब्ध कराई जाएगी।
  • इस योजना के तहत महिलाओं को दिए जाने वाले ऋण पर 25% अनुदान प्रदान किया जाएगा।
  • तथा वंचित वर्ग से संबंधित लाभार्थियों को 30% अनुदान प्रदान किया जायेगा ।
  • Indira Mahila Shakti Udyam Protsahan Yojana उच्चारण निष्पादन निदेशालय महिला अधिकारिता के अधीन जिला स्तरीय महिला अधिकारिता कार्यालय द्वारा किया जाएगा।
  • राज्य स्तर पर उचित रूप से क्रियान्वयन करने की जिम्मेदारी निदेशालय महिला अधिकारिता की होगी।
  • और पर्यवेक्षण हेतु नोडल एजेंसी को जिम्मेदार माना जाएगा।
  • सरकार द्वारा इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना के संचालन के लुए 1000 करोड़ रुपए का बजट आबंटन किया गया है ।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य में बढती हुई बेरोजगारी को रोकथाम मिलेगी ।
  • यह योजना महिलाओ की जीवन को बेहतर बनाने और उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार करने का प्रयास है ।

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन 

  • आवेदक महिला राजस्थान की स्थाई निवासी होनी चाहिए ।
  • आवेदक महिला की आयु 18 वर्ष से कम नही होनी चाहिए ।
  • महिलाओं को ग्रुप पंजीकरण करने के बाद ही ऋण प्रदान किया जाएगा।
  • भूमि, भवन या अपने संसाधनों के सम्बंधित प्रोजेक्ट को स्वीकृति हेतु वरीयता दी जाएगी।
  • महिला एवं स्वयं सहायता समूह या इन समूह के कलेक्टर अथवा फेडरेशन की हालत में सहकारी अधिनियम के अंतर्गत उनको नियम के अनुसार पंजीकृत होना आवश्यक है।
  • जो महिलाएं दुग्ध उत्पादन, डेयरी, कृषि आधारित, सेवा व्यापार से जुड़ी हुई है । वह सभी इस योजना में आवेदन कर सकती है ।
  • इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए महिला को राजस्थान का मूल निवासी होना चाहिए ।
  • महिला स्वयं सहायता समूह, क्लस्टर, फेडरेशन आदि के सभी सदस्य इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते है।
  • स्वयं सहायता समूह, क्लस्टर, फेडरेशन आदि को राज्य सरकार के किसी भी विभाग या बैंक द्वारा डिफॉल्डर घोषित न किया गया हो।
  • सहकारिता अधिनियम के अंतर्गत महिला स्वयं सहायता समूह के कलेक्टर अथवा फेडरेशन नियम के अनुरूप पंजीकृत  होने चाहिए।
  • राज्य सरकार द्वारा दिए गये दिशा निर्देश के अनुसार महिला स्वयं सहायता समूह, क्लस्टर, फेडरेशन नियम विनियम योजना के तहत गठित होना चाहिए।
  • जिनकी संस्था के गठन को 1 साल हो गया हो या गठन को 1 वर्ष की अवधि के उपरांत भी कम से कम 1 साल तक सक्रिय रूप से संचालित होना चाहिए।
  • 1 साल की अवधि में बचत, पारंपरिक लेनदेन आदि का रिकॉर्ड भी संस्थाओं के पास होना चाहिए।
  • राज्य सरकार के पोर्टल पर महिला स्वयं सहायता समूह, क्लस्टर, फेडरेशन से संबंधित सभी सूचनाएं पोर्टल पर उपलब्ध होनी चाहिए।
  • आधार कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • शैक्षणिक योग्यता दस्तावेज
  • प्रोजेक्ट रिपोर्ट
  • ईमेल आईडी
  • बैंक खात
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • सर्वप्रथम आपको महिला एवं बाल विकास विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा ।
  • आधिकारिक वेबसाइट पर आपके सामने होम पेज खुल जायेगा ।
Indira Mahila Shakti Udyam Protsahan Yojana
Indira Mahila Shakti Udyam Protsahan Yojana
  • इस पेज पर आपको दिए गये दिशा निर्देशों को पढ़कर आवेदन भरे के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस विकल्प पर क्लिक करने पर आपके सामने आवेदन फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
Indira Mahila Shakti Udyam Protsahan Yojana
  • अब आपको इस आवेदन फॉर्म को सात चरणों में भरना होगा। जैसे –
  • सामान्य विवरण
  • आवेदक का विवरण
  • आवेदक एवं कार्य स्थल का विवरण
  • प्रस्तावित परियोजना का विवरण
  • प्रस्तावित वित्तीय संस्था का विवरण
  • वरीयता क्रम में आने का आधार
  • दस्तावेज अपलोड एवं घोषणा को
  • इसके बाद आपको नीचे फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी को सही – सही दर्ज करना होगा ।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको अपने दस्तावेजो को फॉर्म के साथ अपलोड करना होगा।
  • विवरण पूर्ण हो जाने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा ।
  • आवेदन के सत्यापित होने के बाद महिला के बैंक खाते में ऋण राशि भेजी जाएगी ।
  • इस प्रकार आप आसानी से इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकेंगे ।
इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना को किसने शुरू किया है ?

इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना को राजस्थान सरकार द्वारा शुरू किया गया है ।

Indira Mahila Shakti Udyam Protsahan Yojana का उद्देश्य क्या है ?

इस योजना का मख्य उद्देश्य राज्य की महिलाओं को खुद का व्यवसाय या उद्यम स्थापित करने के लिए प्रोत्साहन देना है ।

Indira Mahila Shakti Udyam Protsahan Yojana से क्या लाभ मिलेगा?

ndira Mahila Shakti Udyam Protsahan Yojana से राज्य की महिलाओं को स्वरोजगार स्थापित करने हेतु ऋण की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।

इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना के तहत महिलाओं को कितनी ऋण राशि उपलब्ध कराई जाएगी?

इस योजन के माध्यम से राज्य सरकार द्वारा महिलाओ को स्वंय का उद्यम स्थापित करने के लिए 1 करोड़ रूपये तक ऋण राशि उपलब्ध कराई जाएगी?

इस योजना के अंतर्गत राजस्थान सरकार द्वारा महिलाओं को ऋण पर कितना अनुदान दिया जाएगा?

IMSUPY के अंतर्गत महिलाओ को उपलब्ध कराए जाने वाले ऋण पर सरकार द्वारा 25 से 30% तक अनुदान प्रदान किया जाएगा।

Leave a Comment