आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना : आवेदन प्रक्रिया, एप्लीकेशन फॉर्म PDF

Atmanirbhar Gujarat Sahay Yojana – यह बात तो आप सब जानते है की अब से कुछ समय पहले देश में कोरोना वायरस का बहुत बड़ा कहर था । कोरोना वायरस के समय लोकडाउन लगने की वजह से लोगो के कारोबार बंद हो गये है । लोगो की इस स्थिति को देखते हुए गुजरात के मुख्यमंत्री द्वारा उन सभी गरीब लोगों की मदद करने के लिए आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना की शुरुआत की गई है, जो लोकडाउन की स्थिति से बदतर है । इस लेख में, हम आपके साथ Atmanirbhar Gujarat Sahay Yojana के सभी कार्यान्वयन और इस योजना के तहत आवेदन करने वाले छोटे व्यापारियों के लिए आवेदन प्रक्रिया साझा करेंगे । राज्य के जो व्यवसायी इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते है, तो इसके लिए हम आपके साथ आवेदन कैसे करें और पात्रता मानदंड और उपलब्ध सभी प्रोत्साहन भी साझा करेंगे। क्रप्या आप इस लेख को पूरा पढ़े ।

Atmanirbhar Gujarat Sahay Yojana

गुजरात सरकार ने Atmanirbhar Gujarat Sahay Yojana (AGSY) के तहत 1 लाख रूपये अग्रिम (Advance) 2% लोन कॉस्ट प्लॉट पर देने के लिए प्रस्तावित किया है| यह राज्य सरकार की सहायता के रूप में व्यक्तियों के लिए 5,000 करोड़ रूपये का बंडल है| इसमें कम प्रतिनिधि, प्रतिभाशाली विशेषज्ञ, ऑटोरिक्शा प्रोपराइटर, सर्किट टेस्टर और अन्य शामिल हैं । जिन लोगो के व्यवसाय COVID-19 की चपेट में आ चुके हैं। गुजरात का राज्य प्रशासन छोटे व्यापारियों या व्यवसायियों के लिए निर्देशित आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना के तहत क्रेडिट देने वाले बैंकों को अतिरिक्त 6% उत्साह देगा।       

योजना का नामAtmanirbhar Gujarat Sahay Yojana
शुरू की गईगुजरात सरकार द्वारा
वर्ष2023
उद्देश्यछोटे व्यवसायों को मौद्रिक सहायता और सस्ते ऋण प्रदान करना
लाभार्थीराज्य के छोटे और निम्न-मध्यम वर्ग के कार्यकर्ता
आवेदन की तिथि प्रारंभ16th May 2020
Application Form Pdf Download डाउनलोड करें

मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना

Atmanirbhar Gujarat Sahay Yojana के 1 लाख प्रत्येक बार केवल 2% वार्षिक पर बैंकों तहत लगभग 10 लाख प्राप्तकर्ताओं को रुपये का अग्रिम दिया जाएगा। सभी क्रेडिट आवेदन के आधार पर दिए जाएंगे और किसी भी आश्वासन की आवश्यकता नहीं होगी। गुजरात सरकार द्वारा बैंकों को क्रेडिट पर शेष 6% उत्साह का भुगतान किया जायेगा । ऐसे अग्रिमों का निवास 3 वर्ष का होगा और अग्रिम राशि के अनुमोदन के आधे साल बाद सिर और प्रीमियम की फिर से किस्त शुरू हो जाएगी । बैंकों से बातचीत के बाद राज्य सरकार ने यह फैसला किया है।

  • गुजरात सरकार आत्मनिर्भर सहाय योजना को शुरू किया गया है ।
  • इस योजना को उन सभी व्यापारियों की मदद करने के लिए शुरू किया गया है जो लोकडाउन से प्रभावित है ।
  • इस योजना के अंतर्गत वे अपने व्यवसायों को दुबारा शुरू कर सकते है ।
  • इस योजना के तहत गुजरात सरकार द्वारा 2% ब्याज पर एक लाख रुपये का ऋण प्रदान किया जायेगा ।
  • गुजरात सरकार के संबंधित अधिकारियों ने कहा है की यह सौदा केवल 5000 रुपये के प्रोत्साहन के अन्य सभी राज्यों की तुलना में बेहतर है।
  • यह योजना किराना किराना स्टोर व्यापारी, सब्जी विक्रेताओं और ऑटोरिक्शा चालक सहित राज्य के 10 लाख छोटे व्यापारियों के लिए फायदेमंद है।
  • लाभार्थियों को 1,00,000 रूपये तक का संपार्श्विक-मुक्त ऋण प्रदान किया जायेगा ।
  • योजना के अंतर्गत आवेदकों को प्रति वर्ष 2% ब्याज का भुगतान करना होगा ।
  • इसके अतिरिक्त शेष 6% ब्याज का भुगतान राज्य सरकार द्वारा किया जाएगा ।
  • योजना के अंतर्गत 6 महीने की अधिस्थगन अवधि लाभार्थियों को दी जाएगी ।
  • सहकारी बैंकों, जिला बैंकों और क्रेडिट सहकारी समितियों द्वारा ऋण प्रदान किया जायेगा ।
  • सरकार द्वारा आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना के लिए 5,000 करोड़ रुपये आबंटित किये है ।

उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना

आवेदन प्रारंभ होता है21 मई 2020
आवेदन समाप्त होता है31 अगस्त 2020

  • छोटा व्यवसाय
  • ऑटो-रिक्शा चालक
  • कम वेतन वाले
  • हेयरड्रेसर
  • इलेक्ट्रीशियन
  • कुशल श्रमिक वाले अन्य नागरिक
  • आवेदक गुजरात का स्थायी निवासी होना चाहिए ।
  • इस योजना के अंतर्गत गरीबी रेखा से नीचे आने वाले नागरिक आवेदन कर सकते है ।
  • सबसे पहले आपको आधिकारिक वेबसाइट से गुजरात सहाय योजना एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड करना होगा ।
Atmanirbhar Gujarat Sahay Yojana
  • अब आपको फॉर्म का प्रिंट आउट निकल लेना है ।
  • इसके बाद आपको फॉर्म में पूछी गई सभी जाकारी को सही – सही दर्ज करना होगा ।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको अपने सभी दस्तावेजो को फॉर्म के साथ लगाना होगा ।
  • अब यह आवेदन पत्र गुजरात के जिला सहकारी बैंकों, शहरी सहकारी बैंकों और क्रेडिट सोसायटी की किसी भी शाखा में जमा किया जाएगा।
  • आवेदन पत्र लगभग 1000 जिला सहकारी बैंक शाखाओं, 1400 शहरी सहकारी बैंक शाखाओं और 7000 से अधिक क्रेडिट समितियों सहित 9000 से अधिक स्थानों पर भी उपलब्ध हैं।

Leave a Comment